Tuesday, January 11, 2011

डाक्टर बेदी के नाम एक सम्मान और

योग के ज़रिये स्वास्थ्य का जादू लगातार सर चढ़ कर बोल रहा है.  पूरी दुनिया तेज़ी से योग का लोहा मानने की तरफ बढ़ रही है.योग, स्वास्थ्य और समाजिक तब्दीलियों के अभियान में एक नयी सफलता उस दिन दर्ज की गयी जब हरिद्वार में एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन कराया गया. दो से पांच जनवरी तक पतंजलि योगपीठ की ओर से आयोजित इस सम्मेलन में दुनिया के अलग अलग भागों से आये तीन हज़ार प्रतिनिधियों ने भाग लिया. इस यादगारी आयोजन में सी एम सी अस्पताल लुधियाना की ओर से डाक्टर हरिंद्र सिंह बेदी विशेष तौर पर शामिल हुए. इस विशाल आयोजन में डाक्टर बेदी ने बहुत ही स्पष्ट शब्दों में कहा कि दिल कि बीमारियों के इलाज में अगर योग थरेपी का सहारा भी लिया जाये तो मरीज़ बहुत ही जल्द ठीक होते हैं.  
उन्होंने कहा कि यदि हार्ट सर्जरी से पूर्व और बाद में योग अपनाया जाये तो परिणाम बहुत सुखद निकलते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि सी एम सी अस्पताल लुधियाना में  योग थरेपी का उपयोग बहुत पहले से ही किया जा रहा.इस सम्मेलन में दस और पेपर भी पढ़े गए पर डाक्टर बेदी के पेपर को बेस्ट पेपर का एवार्ड मिला. इन पेपरों को सुनने वाले पेनल में इटली, अमेरिका और इंग्लैण्ड के डाक्टर भी शामिल थे. इसी बीच सी एम सी अस्पताल लुधियाना के डाक्टर अब्राहिम थोमस ने भी कहा कि सी एम सी इस क्षेत्र के लोगों को विश्व स्तर इलाज  सुविधायें देने को वचनबद्ध है.उन्होंने यह बी ही कहा कि जिन आल्टरनेटिव थ्रेपीयों के बारे में यहां रिसर्च चहल रही है उनमें योग भी शामिल है.     --रेक्टर कथूरिया