Saturday, February 03, 2018

लक्ष्णों के बावजूद ऑपरेशन में देरी करना जानलेवा भी हो सकता है

[17:22, 2/3/2018]
पित्ते की पथरी पर डा. नरोत्तम दीवान ने किया सावधान  
लुधियाना: 3 फरवरी 2018: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो)::
दीवान अस्पताल एंड एडवांस्ड लेप्रोस्कोपिक सजर्री  सेंटर के सेमिनार रूम में शनिवार को सीएमई का आयोजन किया गया। सीएमई में पित्ते की पथरी के इलाज व दूरबीन से ऑपरेशन के प्रसिद़्ध जनरल एंड लेप्रोस्कोपिक सजर्न डॉ.नरोत्तम दीवान ने ‘पित्ते की पथरी का समय पर ऑपरेशन कराने से होने वाली समस्याएं’ विषय पर संबोधित किया। 
डॉ.दीवान ने कहा कि वैसे तो पित्ते की पथरी के बारे में पता चलने के तुरंत बाद ऑपरेशन करना जरूरी नहीं है लेकिन पेट में मामूली दर्द, हाजमा खराब होना, गैस ज्यादा बनने, उलटी आने या बुखार चढ़ने जैसे लक्ष्णों के बावजूद ऑपरेशन में देरी करना जानलेवा भी हो सकता है।
 कई बार पित्ते की पथरी पित्ते से फसलकर पित्त की नलकी में फंसकर पित्त का रास्ता रोक देती है। इससे पित्त आंतड़ियों की बजाय रक्त में जाने लगता है। इससे मरीज की आंखें त्वचा व पेशाब पीला व शौच का रंग सफेद हो जाता है। मरीज के सारी त्वचा पर खुजली होने है।  शरीर में विटामिन के की कमी हो जाती है। विटामिन के की कमी से खून जमने में खराबी आ जाती है और थोड़ी सी चोट पर भी बहुत ज्यादा रक्त बहता है।
इसके अलावा कई बर पित्ते की पथरियां ज्यादा देर रहने तक से पित्ते में सोजिश पड़ने से आसपास की आंतड़ियां उससे चिपक जाती हैं और एक गांठ का आकार ले लेती है। इससे मरीज का एक दम ऑपरेशन नहीं हो पाता है। उसे कुछ महीने दवा लेनी पड़ती है व दाखिल भी होना पड़ता है। 
अगर पथरी एक और बड़ी हो तो वह सालों साल रहने के बाद पित्ते में कैंसर पैदा कर देती है। यह कैंसर जानलेवा होता है, क्योंकिा पित्ता जिगर के पास होने की वजह से कैंसर जिगर में बहुत तेजी से दाखिल हो जाता है, जिससे मरीज एकदम से कैंसर की आािखरी स्टेज में पहुंच जाता है।
 इसी तरह पित्ते की पथरी के ऑपरेशन में देरी करने से पित्ते में मवाद पड़ जाता है या पित्ता गल जाता है। मवाद का प्रेशर ज्यादा पड़ने से पित्ता फब्ट जाता है जोकि खतरनाक स्थिति है। इसके इलाज में रिस्क भी रहता है।
इसी तरह मरीज को कोलेंजाइटिस बीमारी भी हो सकती है, जिसमें कुछ अर्सा पहले तक शत प्रतिशत मरीजों की मौत हो जाती थी। हालांकि अभी भी  सात फीसदी डेथ रेट है।
इसमें मरीज को पीलिया, तेज बुखार व पेट के दाहिने में ऊपरी तरफ दर्द, तेज कंपकंपी होने लगती है। पित्ते की नलकियों में कीटाणु बहुत बढ़ जातो है और मवाद पैदा हो सकता है। वह कीटाणु व मवायद जिगर से होते हुए खून में चले जाते हैं, और सारे शरीर में मवाद, कीटाणाु व उसका जहर फैल जाता है। मरीज का ब्लड प्रेशन बहुत तेजी से गिर सकता है और उसके गुर्दे अैर फेफड़े फेल हो सकते हैं। इसके लिए बहुत तेजी से इलाज की जरूी रहीत है। 
पित्ते की पथरी के इलाज में देरी से पेनक्रियाज ग्रंथी में सोजिश से पेनक्रिएटाइटिस बीमारी हो जाती है। पेनक्रियाज से निकलने वलो द्रव्य गुर्दे व फेफड़ों को फेल कर सकते हैं। इससे पेट में पानी व मवाद भर सकता है। मरीज का ब्लड प्रेशर गिर सकता है व उसकी रक्त की धमनियों में ही ब्लड जम जाता है। पेट में खून की धमनियों के जमने से रक्त बहना भी शुरू हो सकता है। पेनक्रियाज में सोजिश से मवाद पड़ जाने पर बार-बार ऑपरेशन करने पड़ते हैं। इसमें भी मरीज को बहुत लंबे समय तक अस्ताल या आईसीयू में दाखिल रहकर बार-बार ऑप्रेशन कराने पड़ सकते हैं। लेकिन फिर भी दस फीसदी मरीज बच नहीं पाते हैं।

Monday, January 29, 2018

धरना-प्रदर्शनों पर जारी पक्की रोक के खिलाफ़ विशाल रोष प्रदर्शन कल

Mon, Jan 29, 2018 at 5:00 PM
ज़िला प्रशासन की जनविरोधी रोक के खिलाफ हुई विशेष बैठक 
लुधियाना: 29 जनवरी 2018: (पंजाब स्क्रीन टीम):: 
कभी किसी शायर ने बहुत पहले कहा था। शायद शाद लखनवी साहिब ने कि
न तड़पने की इजाज़त है न फ़रियाद की है 
घुट के मर जाऊँ ये मर्ज़ी मिरे सय्याद की है

कुछ इसी तरह के हालात बनाये जा रहे हैं आज के इस आधुनिक दौर में उन लोगों के लिए जो अपना दर्द सरकार के दरबार तक पहुंचाना चाहते हैं। इसका बरसों पुराना ढंग तरीका यही है कि  शांतमयी ढंग से अपना रोष व्यक्त किया जाये। रोष व्यक्त करने वाले लोग जिले में सरकार के प्रमुख प्रतिनिधि अर्थात डिप्टी कमिश्नर को देते हैं या जिला पुलिस प्रमुख। लुधियाना में इन दोनों के कार्यालय लघु सचिवालय अर्थात में साथी हैं।  इस कम्प्लेक्स को नयी कचहरी के तौर पर भी जाना जाता है। शायद ही कोई दिन हो जब यहाँ कोई  कोई संगठन अपना रोष व्यक्त करने न आता हो। लुधियाना जिला प्रशासन इसको लेकर नाराज़ लग रहा है। 
लुधियाना प्रशासन द्धारा अनिश्चितकालीन तौर पर धारा 144 लगाकर धरना-प्रदर्शनों-हड़तालों पर लगाई पक्की रोक और सरकार के काले कानूनों के खिलाफ़ 70 से अधिक जनवादी जनसंगठनों द्धारा डीसी कार्यालय पर होने वाले विशाल रोष प्रदर्शन की तैयारियाँ पूरी हो चुकी हैं। 
इस सम्बन्धी आज तालमेल कमेटी की मीटिंग बीबी अमर कौर मैमोरियल लाईब्रेरी हाल में हुई। मीटिंग के बाद जारी ब्यान के जरिए संगठनों ने लोगों को जनआवाज़ कुचलने के लिए लुधियाना प्रशासन/सरकार द्धारा लागू तानाशाह फरमान/काले कानूनों के खिलाफ बड़ी से बड़ी संख्या में रोष प्रदर्शन में पहुँचने की अपील की है। डीसी कार्यालय पर प्रदर्शन से पहले शहीद करतार सिंह सराभा पार्क (भाई बाला चौंक) में रैली की जाएगी। वहाँ से पैदल मार्च करके डीसी कार्यालय पहुँचकर प्रदर्शन करके मांग पत्र दिया जाएगा।
इन संगठनों ने कासगंज में हिन्दुत्वी कट्टरपंथिओँ की तरफ से मुस्लिम भाईचारे पर किए गए कातिलाना हमले, अगजनी, हिंसा, उल्टा मुस्लमानों को ही दोषी ठहराए जाने के साम्प्रदायिक प्रचार, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा हिन्दुत्वी कट्टरपंथियों के खिलाफ़ कोई कार्रवाई न करने की सख्त शब्दों में निन्दा की है। 

इस अभियान से जुड़ने के लिए आप अरुण कुमार से भी सम्पर्क कर सकते हैं 9646150249 पर 

प्रदेश के बाकी गैंगस्टरों के साथ भी यही सलूक किया जाए:पंचानंद गिरी

 श्री हिन्दु तख्त के वरुण मेहता ने जारी किया तीखा ब्यान 
लुधियाना: 29 जनवरी 2018: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो)::
पंजाब  के शांतमय माहौल को खराब करने के लिए खालिस्तान समर्थक आंतकी संगठनों व कुख्यात गैंगस्टरों में मिलीभगत होने की आंशका व्यक्त करते हुए श्री हिन्दू तख्त ने हमेशा जो आरोप लगाए वो अब जांच में भी सामने आ रहे है उपरोक्त बातें श्री हिन्दू तख्त के धर्माधीश जगतगुरु पंचानंद गिरी जी व प्रमुख प्रदेश प्रचारक वरुण मेहता ने आज यह तख्त के नवनियुक्त प्रदेश प्रचारक चेतन बवेजा के कार्यलय में विशेष बातचीत में लगाये।
उन्होंने कहा कि पिछली सरकार की माफिया समर्थक नीतियों के कारण प्रदेश में गैंगस्टरों की तादाद बढ़ी और इनके द्वारा राज्य में वर्चस्व कायम करने के लिए सरेआम हत्याए व लूटपाट की घटनाओं को अंजाम दिया गया व कई घटनाओं में बेटियो की इज़्ज़त बचाने की खातिर पुलिस कर्मचारियों को निशाना बनाने से उक्त गैंगस्टरों के हौसले बढ़ गए थे   पूर्व सरकार के दबाव में  पुलिस विभाग इनके खिलाफ ठोस एक्शन लेने में नाकाम रहा और इन लोगो की गतिविधियां बढ़ती गई।
जगतगुरु पंचानंद गिरी व वरुण मेहता ने कहा कि पिछले 2 वर्षों के दौरान  विभिन्न संगठनों के नेताओ सहित तख्त के जिला प्रचारक शहीद अमित शर्मा की हत्या में भी अलगवादी खालिस्तानी कट्टरपंथियों तथा गैंगस्टरों की मिलीभगत की आशंका भी हमने जताई जोकि इन हत्याओं के पर्दाफाश होने पर सच साबित हुई 
कैप्टन सरकार ने शपथ लेते ही गैंगस्टरों के खात्मे के ऐलान किया था व जाबाज़ अधिकारियों को शामिल कर विशेष टीमें बनाई थी जिसके द्वारा गैंगस्टर विक्की गोंडर व प्रेमा लाहौरिया व अन्य को मारा गया जोकि सराहनीय कार्य है वरना जांच में गोंडर व उसके साथियों के विदेशी खालिस्तानी  आकाओ के साथ मिलकर पंजाब के हालात खराब करने के लिए बड़ी साज़िशें रचने की तैयारियों का खुलासा हुआ है 
उन्होंने गोंडर के अन्य साथियों सहित बाकी कुख्यात गैंगस्टरों के साथ भी यही सलूक करने की मांग करते हुए कहा कि श्री हिन्दू तख्त प्रदेश के अमन चैन के लिए गैंगस्टरों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान में पुलिस विभाग को पूर्ण सहयोग करेगा ।
पंचानंद गिरी व वरुण ने कैप्टन।सरकार द्वारा प्रदेश से माफिया व  गैंगस्टरों के खात्मे के लिए पुलिस महानिदेशक श्री सुरेश अरोड़ा जी के नेतृत्व में काउंटर इंटेलिजेंस विग को खुली छूट देने की सराहना करते हुए कहा कि इससे प्रदेश में ला एंड ऑर्डर की स्थिति मजबूत होगी उन्होंने सरकार से शोशल मीडिया पर चेतावनियां देने व इस मुड़भेड़ को लेकर दुष्प्रचार करने वाले तत्वों को भी नुकेल डालने की मांग की। 
श्री हिन्दू तख्त विक्की गोंडर व प्रेमा लाहौरिया को गोली मारने वाले पुलिस अधिकारी गुरमीत चौहान व विक्रम बराड़ को जल्द शांति रक्षक अवार्ड से सम्मानित करेगा । इस अवसर पर सर्वश्री आरडी पूरी चेयरमैन तख्त पंजाब , परविंदर भट्टी उत्तर भारत अखिल भारतीय हिन्दू स्टूडेंट फेडरेशन प्रमुख ,एस डी पूरी उप चैयरमेन , जिला प्रमुख प्रचारक शिवम कुमार , प्रचारक धरमिंदर जज , प्रचारक मनमोहन कुमार , इंद्रजीत पासी , बबल कुमार व अन्य भी उपस्थित थे।
इस सम्बन्ध में और जानकारी ली जा सकती है श्री हिन्दू तख्त के प्रमुख प्रदेश प्रचारक वरुण मेहता से 9888409090