Saturday, August 05, 2017

DJJS: पर्यावरण संरक्षण के लिए चलाया विशेष अभियान

Sat, Aug 5, 2017 at 1:36 PM  
दिव्य ज्योति जागृति संस्थान ने बनाये इस दिशा में कई विशेष कार्यक्रम 
लुधियाना: 5 अगस्त 2017: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो)::
दिव्य ज्योति जागृति संस्थान जिसके संचालक श्री आशुतोश महाराज जी हैं, की ओर से लुधियाना में आज 5 अगस्त 2017 को एक स्थानीय होटल में एक प्रैस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया। यह आयोजन संस्थान की लुधियाना शाखा की ओर से चलाई जा रही मुहिम माई अर्थ माई रिसपोंसीबिल्टी से संबंधित किताब माई अर्थ माई रिसपोंसीबिल्टी चैप्टर-अ रिपोर्ट जुलाई 2014 दिसंबर 2016 के विमोचन के संबंध में था। 
इस संबंध में संस्थान के नेचर कंजरवेशन प्रोग्राम की मुख्य इंचार्ज साध्वी आदिति भारती, प्रचारक साध्वी परमा भारती तथा लुधियाना के माई अर्थ माई रिस्पोंसीबिल्टी प्रोग्राम के इंचार्ज तरसेम सिंह ने प्रैस के समक्ष विमोचन की जाने वाली किताब के बारे में जानकारी दी। 
प्रैस को संबोधित करते हुए साध्वी सुश्री आदिति भारती ने कहा कि पर्यावरण का सरंक्षण एक दिन की क्रिया नहीं है, यह तो एक जीवनशैली है, इस जीवन शैली का संचार तथा प्रारंभ करना आसान कार्य नहीं है, यह तो एक निरंतर प्रक्रिया है। माई अर्थ माई रिस्पोंसीबिल्टी कैंपेन का उद्देश्य समाज को इसी जीवनशैली की ओर बढ़ाना है। 
करीब ढाई वर्ष के काल के दौरान हमने अनेकों प्रकार से नागरिकों के मनों को हिलाने की कोशिश की है तथा यह किताब हमारे कार्यों, उपलब्धियों तथा यात्रा पाठ्यक्रम को सब के समक्ष खोल देगी। यह पूछने पर कि क्या यह किताब विमोचन प्रकरण शहर में मुहिम का अंत है तो इस पर प्रोग्राम के इंचार्ज तरसेम सिंह ने कहा कि माई अर्थ माई रिस्पोंसीबिल्टी मात्र एक मुहिम नहीं, वास्तव में यह जनता की मुहिम है क्योंकि पृथ्वी सब की है। यह एक कोशिश है जिसके द्वारा शहर के लोगों को मुहिम व उसके नतीजों से अवगत करवाया जा सकेगा। यह इस का अंत नहीं! अपितु हम इसकी आवाज को दूसरे स्तर तक ले जाने की सोच रहे हैं। संस्थान ने आगामी महीनों में शहर के भीतर वायु प्रदूशण को रोकने हेतु एक विशाल जागरूकता रैली निकालने का ऐलान किया। इसके अतिरिक्त संस्थान शहर के कुछ खास इलाकों में भी कुछ ख़ास कार्य करेगा। लुधियाना के इंचार्ज तरसेम सिंह ने एक नंबर 9779824000, 9915761850 दिया और कहा कि हम यह नंबर प्रैस के माध्यम से जारी कर रहे हैं जो कोई भी घर में पौधा रोपित करना चाहता है, वह इस नंबर पर संपर्क करे, उसे मुफत डिलीवरी दी जायेगी। कांफ्रेंस के अंत में तरसेम सिंह ने मीडिया कर्मियों का उनके सहयोग के लिए धन्यवाद भी दिया। 

Wednesday, August 02, 2017

60 पेरा लीगल वालंटियर को ट्रेंनिंग का काम जारी

जिला कोर्ट कम्प्लेक्स में चार अगस्त तक चलेगा यह सेमिनार 

लुधियाना:2 अगस्त 2017: (वी के बत्रा//स्वीटी बत्रा//पंजाब स्क्रीन):: 
एक बहुत ही अच्छा गीत है-ज़िंदगी हर कदम इक नई जंग है! इस जंग में बहुत सी उलझने क़ानूनी जाल से भी उलझी होती हैं। इस जाल से बच निकलना आसान नहीं होता। लोग कहते हैं की बीमारी और कचहरी तो भगवान किसी दुश्मन को भी न दे। जहाँ तक दुश्मन का सवाल है वे तो बिना बनाये भी खड़े हो जाते। हैं। शायद यह प्राकृति का ही कोई नियम हो। 
आप कितनी ही कोशिश कर लो लेकिन कोई न कोई क़ानूनी उलझन खड़ी हो ही जाती है। तब याद आती है अदालत और कानून की। अदलात जाना कोई आसान काम नहीं होता। घर घाट सब बिक जाता है और न्याय फिर भी नहीं मिलता। किसी के साथ ऐसा न हो इस मकसद के लिए एक विशेष आयोजन आजकल जिला कचहरी कॉम्पलेक्स में चल रहा है। 
कोर्ट कॉम्प्लेक्स में जिला क़ानूनी सेवा ऑथोरिटी की तरफ से 1 अगस्त से 4 अगस्त  तक सेमिनार करवाया जा रहा है जिसमे पूरे लुधियाना जिले से चुने गए 60 पेरा लीगल वालंटियर को ट्रेंनिंग दी जा रही है। यह वालंटियर ही आम जनता को इंसाफ दिलाएंगे जिसके पास आम तौर पर ज़्यादा धन नहीं होता। 
ऑथोरिटी की सेक्रटरी कम सी जे एम मनयोग मैडम गुरप्रीत कौर ने पत्रकारो से बातचीत करते हुए बताया के यह ट्रेंनिंग 4 दिन तक चलेगी जिसमें आज समाज सुरक्षा कार्यालय से सेक्शन अफसर श्रीमती सुनीता गुप्ता , जिला फैमिली वैलफेयर आफिस से डॉक्टर एस.पी सिंह, डिस्ट्रिक्ट फ़ूड सप्लाई अफसर गुरिंदर सिंह और नरेगा अफसर मेडम रजनी भारद्वाज मुख्य मेहमान के तौर मार पहुंची थी।

Monday, July 31, 2017

निजी स्कूलों के खिलाफ जन आक्रोश और तेज़

बात नहीं बनी तो गुप्ता मॉडल स्कूल के खिलाफ भी संघर्ष होगा और तेज़
लुधियाना: 31 जुलाई 2017: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो):: 
निजी स्कूलों की कथित मनमानियों के खिलाफ जन संघर्ष और विशाल होता रहा है। कहीं करेक्टर सर्टिफिकेट के 1100-1100 रूपये मांगे जा रहे हैं तो कहीं स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट के चार पांच हज़ार रूपये। कई इलाकों के कई स्कूल आरोपों के घेरों में हैं। टाफियों से लेकर किताबें और वर्दियां तक स्कूल से बेचना इस दुकानदारी का हिस्सा बन चूका है। क्लब रोड पर स्थित गुप्ता मॉडल स्कूल के अभिभावकों के संघर्ष को लुधियाना के समाजसेवी अश्विनी सग्गी और कलाकार गौरव सग्गी ने सक्रिय सहयोग दिया। परिणाम स्वरूप इन अभिभावकों को अब छह महीने की फीस की बजाये केवल एक महीने की फीस दे कर स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट मिल सकेगा। अभिभावकों का असमर्थन करने के आरोप में स्कूल ने अश्विनी सग्गी अश्विनी सग्गी के खिलाफ बदलाखोरी की भावना से करवाई भी की। 
गौरतलब है कि लुधियाना में भी निजी स्कूलों के खिलाफ जन आक्रोश लगातार बढ़ता ही जा रहा है। आज मामला सामने आया क्लब रोड पर स्थित गुप्ता मॉडल हाई स्कूल का। यह बहुत पुराना स्कूल है और डाक्टर इक़बाल नर्सिंग होम  है। झगड़ा बढ़ने पर वहां मीडिया भी पहुंचा। यहाँ पढ़ते बच्चों के अभिभावकों ने मीडिया को बताया कि उन्हें स्कूल छोड़ने के बावजूद स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट नहीं दिया जा रहा। कई महीनो से कई कई चक्कर लगाने के बाद भी सर्टिफिकेट के बदले उनसे छह छह महीनों की फीस मांगी जा रही है। एक अभिभावक महिला ने बताया कि एक बच्चे की महीने की फीस 675/- रूपये बनती है। छह महीनों की इतनी बड़ी रकम 4,050/- वे नहीं दे सकते। किताबें भी स्कूल के अंदर से ही खरीदनी पड़ती हैं और वे भी बाजार से कहीं महंगी।  जब भी बात करो तो स्कूल के संचालक इशारों से ही सामने वाले को चकरा देते हैं और क्यूंकि मूक बधिर होने के कारण ये लोग बोल कर नहीं सकते और सामने वाला इनकी भाषा समझ नहीं सकता।  इस मकसद के लिए किसी रिसेप्शनिस्ट या पीआरओ को भी नियुक्त नहीं किया गया। आखिर जब दोनों पार्टियां पुलिस के पास पहुंची तो पुलिस ने स्कूल में आ कर समझौता करवाया। अब अभिभावकों को अगले दिन आने को कहा गया है वो भी केवल एक महीने की फीस के साथ। अब देखना यह है कि  इस पर सचमुच अम्ल होता है या बात को लटकाने के लिए इसे केवल बहाना बनाया जाता है। गौरतलब है कि कभी इस स्कूल का बहुत नाम हुआ करता था लेकिन स्कूल संस्थापक सुरेंद्र गुप्ता का देहांत होने के बाद इस स्कूल का प्रभाव लगातार कम होता गया।  जब स्कूल का पक्ष जानने की कोशिश की गयी तो स्कूल प्रबंधन ने मीडिया के साथ भी बदसलूकी की और काम में रुकावटें डाली। इसी बीच कुछ अभिभावकों और स्कूल में काम करते स्टाफ ने मांग की कि स्कूल के अतीत का रेकार्ड भी खंगाला जाये और पता किया जाये कि अब तक किस किस गलत तरीके से पैसा एकत्र किया जाये।