Wednesday, April 27, 2016

1984 सिक्ख कत्लेआम के लिए प्रत्येक कांग्रेसी नेता जिम्मेवार-CM बादल

Wed, Apr 27, 2016 at 7:17 PM
पानी की रक्षा के लिए बड़ी कुर्बानियों के लिए तैयार रहने का आहवान
कांग्रेस की तरह आप भी पंजाब विरोधी--मुख्यमंत्री बादल 
पंजाब को मरूथल बनाने को कांग्रेस और आप की साज़िशों की निंदा
*कांग्रेस ने हरियाणा, राजस्थान तथा अन्य राज्यों को गैर कानूनी ढंग से दिया पंजाब का पानी
*केजरीवाल अपने पैतृक राज्य हरियाणा के हितों की कर रहा है पूर्ति
*शहीद भगत देश के सबसे अधिक सम्मानित स्वंतत्रता संग्रामी
*मुख्यमंत्री ने श्री मुक्तसर साहिब के विकास के लिए अस्सी करोड़ से अधिक के प्रोजैक्ट घोषित
श्री मुक्तसर साहिब, 27 अप्रैल 2016: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो):
पंजाब के लोगों को राज्य के पानी की रक्षा के लिए तैयार रहने का आहवान करते हुये पंजाब के मुख्यमंत्री स. प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस दोनों मिलकर राज्य को मारूथल बनाने की साजिश रच रहे हैं।
आज यहां संगत दर्शन कार्यक्रम के दौरान श्री मुक्तसर साहिब शहर के विभिंन वार्डो में लोगों को संबोधित करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि यह दोनों पार्टिया राज्य के विकास और लोगों की खुशहाली की दुश्मन हैं जिस कारण यह लगातार पंजाब से उसका पानी छीनने के लिए योजनाएं बना रही हैं। उन्होने लोगों को सचेत किया कि आने वाली पीढिय़ों के लिए पानी बचाने हेतू सभी को मिलकर संघर्ष करना होगा। ताकि कोई भी हमारे राज्य का पानी हम से छीन ना सके।
कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने विभिंन समय पर पानी के समझौते कर पंजाब से उसका पानी छिनने के मनसूबे बनाये थे। उन्होने कहाकि हरियाणा, राजस्थान और अन्य राज्य जिनका पंजाब के पानी पर कोई भी अधिकार नही हैं को गैर कानूनी ढंग से पंजाब का पानी दिया गया। उन्होने लोगों को याद दिलाया कि राज्य कांग्रेस के मौजूदा प्रधान कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने उस समय के प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी द्वारा एसवाईएल नहर का नींव पत्थर रखने के अवसर पर श्रीमती गांधी जोरदार ढंग से स्वागत किया था। उन्होने कहा कि कोई भी सच्चा पंजाबी कांग्रेस को पंजाब से चंडीगढ़, पंजाबी बोलते क्षेत्र, नदी जल और श्री दरबार साहिब पर करवाये गये हमले के लिए कभी माफ नही कर सकता ।
मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी भी कांगे्रस की तरह पंजाब विरोधी है। उन्होने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा एसवाईएल मुददे पर सुप्रीम कोर्ट में दिया गया नया हल्फनामा महज एक राजनीतिक स्टंट है और केजरीवाल का पंजाब विरोधी नजरिया पहले हल्फनाम में उजागर हो गया था। उन्होने कहा कि इस हल्फनामे में पंजाब द्वारा एसवाईएल मुददे पर लिये गये स्टेैड को गैर संवैधानिक तथा देश विरोधी बताते हुये केजरीवाल सरकार ने कहा था कि पंजाब के इस स्टैड से देश के टुकड़े टुकड़े होने का खतरा हैं। साथ ही उन्होने कहा कि दिल्ली सरकार ने पंजाब को इस स्टैड के परिणाम के तौर पर गंभीर निष्कर्ष भुगतने की धमकी भी दी थी।
मुख्यमंत्री ने ओर कहा कि श्री अरविंद केजरीवाल क्योकि स्वयं हरियाणा से संबंध रखते है इस लिए उनका अपने पैतृक राज्य के प्रति मोह है और उनसे पंजाब के हितों की रक्षा कोई उम्मीद नही जा सकती। उन्होने कहा कि केजरीवाल को पंजाब या इसके लोगो से कोई लगाव नही है और उनकी एक ही मंशा राज्य की सत्ता हासिल करनी है। उन्होने कहा कि असल में एसवाईएल के मुददे पर केजरीवाल अपने पैतृक राज्य के हितों की पूर्ति कर रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि समय के साथ साथ आप और कांग्रेस दोनों का पंजाब विरोधी स्टैड साफ हो गया है और राज्य के लोगों को यह बात भली भांति समझ जानी चाहिए कि केवल शिअद ही पंजाब के लोगों की हमदर्द जमात है। उन्होने कहा कि यह दोनों पार्टिया राज्य को लूटना चाहती है पंरतु राज्य के असली पेहरेदार होने के नाते अकाली दल ऐसा कभी भी नही होने देगा।
इस पश्चात अकाली नेता मेहरबान सिंह के गृह में पत्रकारो से बातचीत करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि 1984 के सिक्ख कत्लेआम से संबधित सभी जांच आयोगों , गवाहों तथा मीडिया रिपोर्टो ने इस कत्लेआम को कांग्रेस पार्टी की एक सोची समझी साजि़श बताया था। उन्होंने कहा कि कोई भी कांग्रेसी नेता इस घिनौने हत्याकांड से अपनी और अपनी पार्टी की नैतिक जिम्मेवारी से भाग नहीं सकता है।
कुछ किताबों में शहीद ए आज़म स.भगत सिंह केे बारे में गलत तथ्य छापे जाने को दुर्भाग्यपूर्ण व निंदनीय बताते  मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीद ए आजम स. भगत सिंह पूरे देश के सम्मानित स्वतंत्रता सेनानी हैं जिन्होंने छोटी सी आयु में देश के लिए अपनी जान न्यौछावर की जिसकी मिसाल समकालीन विश्व इतिहाहस में बहुत कम मिलती है।
एक अन्य प्रश्र के उत्तर में मुख्यमंत्री ने कहा कि गेहूं की खरीद सही ढंग से चल रही है और राज्य सरकार द्वारा इस संबंधी योग निर्देश दिए जा चुके हैं और संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिएि गए हैं कि किसानों को अदायगी साथ-साथ की जाए। स.बादल ने कहा अकाली भाजपा गठजोड़ किसानों के कल्याण के लिए वचनबद्ध है और उनके हितों को हर हाल में सुरक्षित रखा जाएगा।
इस अवसर पर श्री मुक्तसर साहिब विधान सभा क्षेत्र के विकास को एक बड़ा प्रोत्साहन देते मुख्यमंत्री ने बिजली  वितरण के बुनियादी ढांचे को मज़बूत और नवीनीकरण के लिए 25 करोड़ रूपए, जल सप्लाई के लिए 38.42करोड़ रूपए तथा शहर के सीवरेज के लिए 10.46करोड़रूपए सहित 80 करोड़ से अधिक के विकास प्रोजेक्ट मंजूर किए।
इस अवसर पर अन्य के अतिरिक्त यूथ अकाली दल के मालवा जोन  के प्रधान स.कंवरजीत सिंह रोज़ी बरकंदी, पंजाब एग्रो के चेयरमैन जत्थेदार दयाल सिंह कोलियां वाली, लोग सभा सदस्य स.शेर सिंह घुबाया, सीनियर अकाली लीडर स.मित्त सिंह बराड़ औरे स. मनजीत सिंह बरकंदी, मार्किट कमेटी बरीवाला के चेयरमैन स.मनजिंदर सिंह बिट्टू, नगर कौंसल के प्रधान श्री हरपाल सिंह बेदी, भाजपा  के जिला प्रधान श्री राजेश पठेला, मुख्य मंत्री के विशेष प्रमुख सचिव स.के जे एस चीमा, मुख्यमंत्री के संयुक्त विशेष प्रमुख सचिव श्री कुमार अमित, उपायुक्त्त श्री सुमित जारंगल,एस एस पी गुरप्रीत सिंह गिल, स.संतोख सिंह भंडारी, श्री सतपाल पठेला, रौबिन बराड़,जसबीर सिंह जम्मूआणा, जगतार सिंह पप्पी, काकू श़ीरवाली, लाली कालेवाला, पम्मा बराड़ संगराणा, सुभाष भठेजा, संदीप गिरधर, बिंदर गौणेआणा, मनप्रीत सिंह, अमनदीप सिंह महासा, शमिंदर सिंह टिल्लू, हरजिंदर सिंह आदि भी उपस्थित थे।
---------------------------------

Monday, April 25, 2016

सड़क हादसे ने ले ली धर्मवती मिश्रा की भी जान

राजनैतिक और समाजिक वर्गों में उदासी की लहर 
लुधियाना: 25 अप्रैल 2016: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो): 

सड़क हादसों ने एक और जान ले ली। हर पल आम जनता के लिए तैयार रहने वाली सक्रिय समाजिक कार्यकर्ता धर्मावती मिश्र अब नहीं रहीं। दोपहर को यह खबर आते ही हर तरफ उदासी छा गयी। 

सड़क हादसे इसे पूर्व भी बहुत सी अनमोल जानें ले चुके हैं। इस बार लुधियाना के फोकल प्वाइंट इलाके में सोमवार सुबह तेज रफ्तार ट्रक ने जिला भाजपा महिला विंग की सचिव धर्मावती मिश्रा को कुचल दिया। इस महिला नेता की मौके पर ही मौत हो गई। धर्मावती अपनी एक्टिवा पर किसी सामाजिक औपचारिकता को पूरा करने के लिए जा रही थीं। घटना के तुरंत बाद आरोपी ड्राइवर ट्रक छोड़कर फरार हो गया। पुलिस उसे जल्द पकड़ लेगी पर धर्मावती अब कभी नहीं लौटेगी। 
हादसे में धर्मावती की मौत की खबर सुनते ही भाजपा के कई नेता और थाना फोकल प्वाइंट की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने जांच के बाद अज्ञात ट्रक ड्राइवर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस आरोपी ड्राइवर की तलाश कर रही है जो हादसे के तुरंत बाद फरार हो गया था। 
जांच अधिकारी राजिंदर सिंह ने कहा कि धर्मावती मिश्रा मूल रुप से बिहार के जिला बेतिया की रहने वाली थीं। पिछले कई साल से वह राम नगर इलाके में रह रही थीं। इस समय वह भारतीय जनता पार्टी महिला विंग के सचिव पद पर तैनात थीं। धर्मावती अपने इलाके में काम करने वाली नेता के नाम से पहचानी जाती थीं। उनके पति नंद किशोर मिश्रा एक निजी फैक्टरी में कार्यरत है। अन्याय का शिकार लोगों को न्याय दिलवाना और ज़रूरतमंद लोगों की सहायता वह पहल के आधार पर करतीं थीं। 
किसी ने नहीं सोचा था वह इतनी जल्दी चली जाएंगी। उनकी मौत के बाद भी अगर हादसों की रोकथाम के लिए कुछ ठोस कदम उठए जा सकें तो शायद उनकी आत्मा को अधिक शांति मिलेगी।