Sunday, April 23, 2017

आज भी वही कुछ जो कांग्रेस करती थी-बीएमएस नेता राठौर

BMS से सबंधित म्युनिस्पल वर्कर्ज़ यूनियन का अधिवेशन 
लुधियाना: 23 अप्रैल 2017: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो)::  For More Pics Please Click Here
कर्मचारियों के मामले में जो नीतियां कांग्रेस सरकार की थीं वही नीतियां आज भी जारी हैं। इस पर हमारी बातचीत और संघर्ष आज भी लगातार जारी है। इसलिए भविष्य में क्या होगा इसकी आशा भी है लेकिन आज की तारीख में कर्मचारियों के भले के लिए कुछ भी ठोस नहीं हुआ। यह बात आज यहां अखिल भारतीय मज़दूर संघ के उपाध्यक्ष करतार सिंह राठौर ने पंजाब स्क्रीन के साथ एक भेंट में कही। वह यहां के आर्य स्कूल में बीएमएस से सबंधित निगम कर्मचारी संगठन म्युनिस्पल वर्करज यूनियन (रजि.) 41 के  में भाग लेने के लिए आये हुए थे। उन्होंने सियासत से ऊपर उठते हुए खुल कर मज़दूर हितों की बात की और कहा कि भारतीय मज़दूर संघ मज़दूर हितों की रक्षा से कभी पीछे नहीं हटेगा। इस भेंट के समय उनके साथ बी.एम.एस. के साथ कई स्थानीय नेता भी मौजूद थे। सीनियर डिप्टी  मेयर सुनीता अग्रवाल ने मीडिया के साथ भेंट में कहा कि इन कर्मचारियों की मांगें बहुत छोटी छोटी हैं। हम इनकी सभी सम्भव मांगें स्वीकार करने कराने के प्रयास में हैं।
For More Pics Please Click Here
उन्होंने स्पष्ट कहा कि मज़दूर कानूनों में तबदीली को लेकर जो नीतियां कांग्रेस सरकार बनाना चाहती थी वही नीतियां आज की सरकार भी बनाना चाहती है। आंगनवाड़ी, मिड डे मील वर्कर और आशा वर्करों को कर्मचारी बनाने के जो वायदे हुए थे वे आज भी पूरे नहीं हुए। उन्हें  कर्मचारी नहीं बनाया गया। पांच मंत्रियों ने इस बात का आश्वासन भी दिया था लेकिन बाद में सरकार इससे पीछे हट गयी। उन्होंने अपनी यह मांग दोहराई कि  कर्मचारियों को उनके बनते हक दिए जाएं।
For More Pics Please Click Here
इस  मौके पर  भारतीय मज़दूर संघ पंजाब के महामंत्री गुरमेज सिंह, बीएमएस लुधियाना के नागेश्वर सिंह, भागीरथ पालीवाल, राम जतन पाल, जिया लाल  गौतम और कई अन्य सक्रिय कार्यकर्ता और नेता भी शामिल थे। इस अधिवेशन में श्री राठौर का गर्मजोशी के साथ स्वागत हुआ। हालांकि वह निश्चित समय के मुताबिक कुछ देरी से वहां पहुंचे लेकिन यूनियन सदस्यों का उत्साह देखने लायक था। यूनयन सदस्यों ने उनके स्वागत में गर्मजोशी के साथ नारे लगाए गए।  For More Pics Please Click Here 
नगर निगम लुधियाना की सीनियर डिप्टी  मेयर सुनीता अग्रवाल भी विशेष तौर पर पहुंची। उन्होंने ने भी कहा कि  कर्मचारियों की मांगों की तरफ विशेष ध्यान  दिया जायेगा। पंजाब स्क्रीन के साथ एक भेंट में उन्होंने कहा की यह निगम के बहुत ही छोटे छोटे कर्मचारी हैं। इनकी मांगें भी बहुत छोटी छोटी हैं।सुश्री सुनीता अग्रवाल ने कहा कि  जो मुझसे और मेयर साहिब से बन पड़ेगा हम इनकी मांगों को मानने और लागो कराने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। सीवरेज की सफाई के दौरान हुई मौतों और अन्य हादसों के संबंध में पूछे जाने पर मैडम अग्रवाल ने कहा कि गैस का मामला बहुत गंभीर है।  कोई भी कहे इनको बिना किट के सीवरेज में जाना ही नहीं चाहिए।  कोई दबाव डाले तो सीधा मुझे मिलें। सावधानी वश सीवर के ढक्क्न को काम से दो घंटे पहले खुला छोड़ा जाये तांकि गैस निकल जाये। इसके बाद भी माचिस की तीली जला का र देखा जाये कि कहीं गैस कहीं पर रुकीहुई तो नहीं या रिस तो नहीं रही। उन्होंने आश्वासन दिया कि  इन कर्मचारियों की हर मांग पूरी की जाएगी।  

Friday, April 21, 2017

भगवान श्री परशुराम जी की जयंती 30 को

जनप्रिय भाजपा नेता प्रवीण बांसल को भी दिया विशेष निमंत्रण 
लुधियाना: 21 अप्रैल 2017: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो)::
आल इंडिया ब्राह्मण महासभा (रजि.) की ओर से भगवान श्री परशुराम जी की जयंती मनाने की तैयारियां ज़ोर शोर से जारी हैं। इस  संबंध में ब्राह्मण महासभा का यह दूसरा आयोजन होगा। यह आयोजन  किचलू नगर लुधियाना में रविवार 30 अप्रैल 2017 को सुबह दस बजे शुरू हो कर प्रभु इच्छा तक चलेगा। सुनिश्चित और घोषित कार्यक्रम के मुताबिक सुबह 10 बजे इसका औपचारिक उद्धघाटन होगा। इसके बाद परशुराम चालीसा, परशुराम पूजन, भजनसंकीर्तन और अन्य कार्यकम घोषित प्रोग्राम के मुताबिक चलेंगे। दोपहर को भंडारा भी अटूट होगा।  इसका निमंत्रण आज संगठन की तरफ से लोकप्रिय भाजपा नेता बांसल को भी उनके निवास स्थान पर दिया गया। इस अवसर पर नरेंद्र दत्ता, डा. सुशील शर्मा, वरुण शर्मा, विष्णु शर्मा, हरीश भनोट, अभिनव पराशर और अन्य सक्रिय सदस्य व पदाधिकारी भी मौजूद थे। 

समाजसेवी संस्था का एक शिष्टमंडल मिला प्रवीण बांसल से

श्री बांसल ने दिया  सहयोग का आश्वासन 
लुधियाना: 21 अप्रैल 2017: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो)::
सियासी चक्रव्यूह में फंसा कर  हराए गए जनप्रिय भाजपा नेता प्रवीण बांसल की लोकप्रियता का  ग्राफ लगातार तेज़ी से बढ़ रहा है।  लोगों का काम  करने में श्री बांसल आज भी पूरी तरह सक्रिय हैं। सुबह होते ही उनके स्नेही उनके कार्यालय  शुरू कर देते हैं और देर रात तक यह सिलसिला जारी रहता है। 
आज निष्काम हैंड टू  हैंड  वेलफेयर सोसायटी का एक शिष्टमंडल आज सुबह जाने माने जन नेता प्रवीण बांसल से मिलाऔर उन्हें अपने कार्यों और मकसद की जानकारी दी। श्री बांसल ने  उनकी बात बहुत ही सम्मान के साथ सुनी और संगठन को सहयोग का  आश्वासन दिया। इस अवसर पर चेयरमैन सतीश बग्गा, नरेश परुथी, नंद सहगल,  वरुण मक्क्ड़ भी मौजूद रहे। 
गौरतलब है कि यह संगठन जनसेवा के लिए समूहिक सहयोग के आधार पर काम करता है। 

Friday, April 14, 2017

आप व खालिस्तान रिश्तों की उच्चस्तरीय जाँच कराई जाये : वरुण मेहता

WhatsApp 14 April 2017 at 18:32
"श्री हिन्दू तख्त" के वरुण मेहता ने की मुख्यमंत्री से मांग 
लुधियाना: 14 अप्रैल 2017: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो)::
आम आदमी पार्टी की कटटरपंथी समर्थक सोच का पुख्ता प्रमाण सुखपाल खैहरा ने दिया है। यह आरोप श्री हिन्दू तख्त के प्रमुख प्रदेश प्रचारक वरुण मेहता ने युवा नेता मनी भारद्वाज के कार्यलय में प्रवास के दौरान लगाए। उंन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र द्वारा विदेशी मेहमान मंत्री को उनकी कटरपंथी शैली के कारण मिलने से मना कर अपनी देश प्रेम सोच का पुख्ता प्रमाण दिया है। 

श्री वरुण मेहता व अखिल भारतीय हिन्दू सुरक्षा समिति के प्रदेश प्रधान दीपक भारद्वाज ने संयुक्त तौर पर कहा कि आम आदमी पार्टी ने हमेशा ही सत्ता की लालसा हेतु अपनी घटिया मानसिकता का प्रमाण दिया है व साफ तौर पर कट्टरपंथी खालिस्तानी सोच वाली ताकतों का समर्थन दिया है 
उंन्होंने कहा कि पंजाब ने लंबे समय तक आंतकवाद का संताप झेला है व डेढ़ दशक तक खालिस्तानी समर्थक आंतकवादी लहर को मुहतोड़ जवाब देने के लिए 30000 से ज्यादा बेगुनाहो ने अपनी कुर्बानी दी है व अभी तक उनके जख्म नही भरे और आप के नेता कटरपंथी वर्ग को लुभाने के लिए हमेशा अलगावादी ताकतों के प्रति नर्म रुख अपनाते है।
वरुण मेहता व दीपक भारद्वाज ने मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरेंद्र सिंह से आप लीडरशिप व अलगावाद समर्थको के रिश्तों की उच्च स्तरीय जांच करवाने की पुरजोर मांग करते हुए कहा कि विधानसभा चुनावो में मिली करारी हार से आप नेता बोखलाहट में है और अपने सत्ता तिलस्मी के टूटने पर राज्य में आपसी सदभाव को बिगाड़ने की साज़िशें रच सकते हैं।  
वरुण मेहता ने कहा कि पंजाब की जनता ने विधानसभा चुनावों का दिया फतवा निगम व पंचायत चुनावों में भी दोहरा कर पंजाब से आप का बिस्तर गोल कर देना है उंन्होंने आप पर दिल्ली दंगो व पंजाब के आंतकवाद पीड़ितों को उनका हक दिलवाने व देने के लिए भेदभाव की नीति अपनाने का आरोप भी लगाया ।

Thursday, April 13, 2017

MCL: बबली को एक साल से नहीं मिला वेतन

एक वर्ष पहले पति की डियूटी पर हुई मौत के बाद मिली थी नौकरी  
लुधियाना: 12 अप्रैल 2017: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो):: 
पिछले एक वर्ष से नगरनिगम में सफाई सेविका के तौर पर कार्य कर रही यह महिला बहुत दुखी है। जब बबली के पति की मौत हुई थी तो उस पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा था। समाज में बच्चों का लालन पालन और पति   के बिना जीना किसी अंधेरी गुफा में रहने जैसा था। इसके बाद  फैसला किया कि  वह अपने पति की निशानी  बच्चों को संभाल कर अच्छा इन्सान बनाएगी। पति की मौत डियूटी पर हुई थी इस लिए सरकारी नियमों के अंतर्गत उसको सरकारी नौकरी मिल गयी। यह बहुत बड़ी राहत थी। उसे लगा कम से कम वो अपना और अपने बच्चों का गुज़ारा तो कर सकेगी पर दुःख के गहन अँधेरे में यह एक सपना ही था। उसकी गम की रात कभी खत्म नहीं हुई। उसकी सुबह कभी नहीं आई। उसे नौकरी तो मिली पर एक बरस तक नौकरी करने के बावजूद उसे अभी तक पहली तनखाह भी नहीं मिली। पूछने पर उसने बताया कि विभाग के एक डाक्टर ने उसकी फाईल  रोक रखी है।  नगरनिगम कर्मचारियों के नेता कामरेड विजय कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि  हम भी इस मामले मैं कई बार सबंधित डाक्टर के चक्र काट चुके हैं लेकिन इसकी फाईल वहां से नहीं निकल रही। उन्होंने चेतावनी भी दी कि अब अगर और देरी की गयी तो हम सख्त एक्शन लेने से पीछे नहीं हटेंगे। 
इसी बीच अचानक वहां आए एक अन्य वरिष्ठ ट्रेड यूनियन नेता मास्टर फ़िरोज़ ने भी बबली का समर्थन किया और आश्वासन दिया कि हम इसे इन्साफ दिलाने के लिए हर सम्भव कदम उठाएंगे।  गौरतलब है कि  मास्टर फ़िरोज़ हाल ही में भाकपा और एटक का साथ छोड़ कर कांग्रेस समर्थक ट्रेड यूनियन इंटक में शामिल हो चुके हैं। वर्करों के हक की लड़ाई वह अब भी पहले की तरह ही लड़ रहे हैं।   ट्रेड यूनियन नेताओं ने दी संघर्ष की चेतावनी

Monday, April 10, 2017

MTSM:फैशन डिज़ाइनिंग के ज़रिये छात्राओं को बना रहे हैं स्वावलंबी

रोज़गार के कई दरवाज़े खुलते हैं इस ट्रेनिंग के बाद-प्रो. अवनिंद्र कौर 
लुधियाना: 10 अप्रैल 2017: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो):: For more Pics Please Click here
लुधियाना के पुराने कालेजों में से एक मास्टर तारा सिंह मेमोरियल कॉलेज फॉर वुमेन ही अपनी छात्राओं को समय की रफ्तार के साथ साथ हर क्षेत्र में सुयोग्य और स्वावलंबी बना रहा है। कालेज की छात्राओं ने कहा कि आज के युग की मांग है फैशन और इसमें पूरी तरह ट्रेंड होने के बाद अब हम खुद को बहुत अच्छा महसूस कर रहे हैं। उनका कहना था कि इस क्षेत्र में सशक्त बन कर हम कहीं भी कभी भी अपने पैरों पर खड़ा हो सकते हैं। फैशन डिजाइनिंग डिपार्टमेंट की ओर से ‘लुक्स एंड ट्रेंड 2017’ फैशन शो का आयोजन किया गया जो कि  बहुत ही यादगारी रहा। फैशन डिजाइनिंग की स्टूडेंटस ने विभिन्न कैटेगरीज के तहत अपनी ड्रेसेस बना कर पेश कीं। इनमें फुलकारी, बाग, सुपर कूल कलेक्शन, ग्लिंप्स एंड ग्लॉस और एलीगेंस जैसी कैटेगरीज शामिल रहीं। मास्टर इन फैशन डिज़ाइनिंग एंड  मैनेजमेंट  (एम एफ डी  एम) की हेड प्रफेसर अवनिंद्र कौर ने बताया कि कालेज में इसकी ट्रेनिंग पूरी करने के बाद हमारी छात्राएं किसी कालेज में लेक्चरर भी बन सकती हैं और इंडस्ट्री में भी जा सकती हैं क्यूंकि रोज़गार के बाद बहुत से अवसर पैदा होते हैं और अपने पैरों पर खड़ा हो कर ज़िंदगी जीने के कई दरवाज़े खुल जाते हैं। 
 For more Pics Please Click here
इस मौके पर डॉ. हरमिंदर कौर सैनी, नंदिनी कपूर और हुस्नजीत कौर ने जज की भूमिका निभाई। फैशन डिजाइनिंग डिपार्टमेंट की सलोनी अग्रवाल ने प्रोग्राम कोरियोग्राफ किया। अमनदीप कौर विर्क को बेस्ट डिजाइनर घोषित किया गया। अमनदीप ने स्प्रिंग सीजन की कलेक्शन दिखाई। ममता ने भंगड़ा कलेक्शन दिखा कर फर्स्ट रनरअप का खिताब जीता। साक्षी सपरा ने जुगनी थीम पर अपनी कलेक्शन दिखा कर सेकेंड रनरअप का खिताब जीता। वेलेंटिनो स्टाइल की कलेक्शन दिखाने पर जसप्रीत कौर को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. किरनदीप कौर ने विजेताओं को शुभकामनाएं दीं। 
 For more Pics Please Click here
उन्होंने डिपार्टमेंट द्वारा किए गए कार्य की सराहना की। उन्होंने कहा कि फुलकारी और बाग में स्टूडेंट्स की दिलचस्पी सराहनीय है। कॉलेज के प्रेसिडेंट स्वर्ण सिंह और सेक्रेटरी कंवलइंद्र सिंह ने डिपार्टमेंट द्वारा किए गए कार्य की सराहना की। इस शो में भाग लेने के बाद ममता रानी, साक्षी, जसप्रीत और अन्य छात्राओं ने भी पंजाब स्क्रीन से मुलाकात के दौरान अपनी प्रसन्नता व्यक्त की।   For more Pics Please Click here

Tuesday, April 04, 2017

"इंटक" के नाम पर लगाई गई "आप" और वाम दलों में सेंध?

इंटक के वरिष्ठ नेतायों  ने नई नियुक्तियों से पल्ला झाड़ा 
लुधियाना: 4  अप्रैल 2017: (पंजाब स्क्रीन ब्यूरो):: 
सत्ता सम्भालने के तुरन्त बाद कांग्रेस ने अपने मज़दूर विंग इंडियन ट्रेड यूनियन कांग्रेस (इंटक) के ज़रिये भी अपना जनाधार मज़बूत करना शुरू कर दिया है। सुविज्ञ सूत्रों की माने तो इस मकसद के लिए उन सभी लोगों की एक लिस्ट बनाई गयी है जो समाज में सक्रिय हो कर कार्य कर रहे हैं और किसी न किसी क्षेत्र में अच्छा नाम कमा चुके हैं। इस लिस्ट को बनाने और इसमें से ख़ास ख़ास लोगों को छांट कर इंटक के ज़रिये कांग्रेस के साथ जोड़ने का अभियान बड़े पैमाने पर शुरू हो चुका है। लुधियाना की हौजरी इंडस्ट्री के मास्टर फ़िरोज़ और नशे के खिलाफ सफल अभियान चलाने वाले संगठन बेलन ब्रिगेड की अनीता शर्मा को सफलता के साथ इंटक के साथ जोड़ा जा चुका है। इस सबन्ध में कई और नियुक्तियां भी हुईं हैं पर क्या इन नियुक्तियों को करने वाले लोग खुद इस मकसद के लिए अधिकृत हैं? यदि राष्ट्रिय अध्यक्ष दिनेश शर्मा हैं तो फिर संसद सदस्य जी संजीवा रेडी कौन हैं जिन्हें इंटक की वेबसाईट पर राष्ट्रिय प्रधान दिखाया गया है? इंटक के पुराने नेता सरबजीत सिंह सरहाली ने कहा है कि हमारे वास्तविक प्रधान संजीवा रेडी ही हैं और नयी नियुक्तियों में सक्रिय लोगो से हमारा कोई सम्बन्ध नहीं। उन्होंने कहा कि  यह लोग पहले भी इस तरह की कोशिशें कर  चुके है। 
गौरतलब है कि बेलन ब्रिगेड प्रमुख अनीता शर्मा को इंटक के महिला विंग का प्रांतीय अध्यक्ष बनाया गया है जबकि मास्टर फ़िरोज़ को इंटक की पंजाब इकाई का महासचिव बनाया गया है। मास्टर फ़िरोज़ और अनीता शर्मा-इन दोनों नेतायों ने आम जनता के साथ बहुत गहरायी से एकजुट हो कर काम किया है। इनको अपने एक एक सदस्य के साथ साथ अन्य लोगों की दयनीय हालत का भी अहसास होता है। इस लिए इनके साथ काम कर चुके लोग इनका सम्मान भी करते हैं। दिलचस्प बात है कि आम आदमी पार्टी मैडम अनीता शर्मा के इस अनुभव का फायदा नहीं उठा सकी और सी पी आई मास्टर फ़िरोज़ के जनाधार की समस्याएं हल करने करवाने में नाकाम रही। परिणाम यह हुआ कि अब ये दोनों नेता भी इंटक के साथ हैं। दोनों को इंटक से काफी उम्मीदें भी हैं पर क्या यह सब इतना आसान होगा? क्या इनको अपने साथ जोड़ने वाली इंटक के नेता सचमुच इस मकसद का अधिकार रखते हैं? 
इंटक चूंकि एक मज़दूर संगठन है इस लिए इसका मुख्य जनाधार भी आम मज़दूर ही हैं। इन मज़दूरों में बहुत से ऐसे हैं जिनके घरों की हालत दयनीय है। ठेकेदारी सिस्टम के चलते इनको पूरा वेतन नहीं मिल पाता। जो मिलता है वो भी शराब के सेवन में उड़ जाता  है। सीवरेज की सफाई के दौरान बहुत से मज़दूर मौत के मुँह में जा चुके हैं और बहुत से गंभीर बिमारियों का शिकार हो चुके हैं। क्या इंटक के नाम पर सक्रिय नया या पुराना गुट इस मकसद के लिए संघर्ष कर पायेगा? अभी भी बहुत से सरकारी और गैर सरकारी मुलाज़िमों/मज़दूरों को बहुत सी समस्यायों का सामना करना पड़ रहा है क्या उन्हें इन्साफ मिलेगा? अमृतसर और मुंबई में वामपंथी मज़दूर संगठन एटक ने घरों में काम करने वाली महिलायों को एकजुट करके उन्हें संगठित किया है और उनके अधिकारों की जंग लड़ी जा रही है क्या इंटक के इन नए नेतायों के पास ऐसा कोई रेकार्ड या कार्ययोजना है?
इसके साथ ही उल्लेखनीय है कि जब दो सितम्बर की देशव्यापी हड़ताल हुई थी तो दोनों बार भारतीय मज़दूर संघ ऐन मौके पर उस हड़ताल से अलग हो गया था लेकिन इंटक ने अन्य मज़दूर संग्रहणों का साथ दिया। इससे मज़दूर भाईचारे में एकता की एक भावना मज़बूत हुई। क्या अब आम आदमी पार्टी और वाम दलों में सेंध लगा कर की जा रही नियुक्तियां इस भाईचारे को नुकसान  नहीं पहुँचायेगी? इन मज़दूर संगठनों में से कौन ज़्यादा शक्तिशाली बन कर सामने आएगा इसका फैसला जहाँ संघर्ष की दृढ़ता करेगी वहीँ कुछ सप्ताह बाद आने वाले मई दिवस पर होने वाली जनतक रैलियों भी बताएंगी कि किसके साथ है मज़दूरों की शक्ति?  
इस सम्बन्ध में पूछे जाने पर इंटक के महिला विंग की नव नियुक्त राज्य प्रधान अनीता शर्मा ने कहा कि श्री रेडी पर कोई मुकद्दमा चल रहा है इस लिए पार्टी हाई कमान ने यह ज़िम्मेदारी श्री दिनेश को सौंपी है। उन्होंने दावा किया कि  राष्ट्रीय प्रधान दिनेश शर्मा सुंदरियाल ही हैं। दूसरी तरफ श्री सरहाली ने कहा कि इंटक के राष्ट्रीय प्रधान हैं-जी संजीव रेडी, पंजाब के अध्यक्ष हैं सुभाष शर्मा, इंटक पंजाब के उपाध्यक्ष हैं-सरबजीत सरहाली, इंटक लुधियाना के प्रधान हैं-धर्मचन्द, इंटक लुधियाना के वर्किंग प्रेजिडेंट हैं-गुरजीत सिंह जगपाल और लुधियाना इंटक के महसचिव हैं-सुरेश सूद।
अब देखना है कि  कांग्रेस पार्टी की हाई कमान इस मामले पर क्या रुख अपनाती है?