Tuesday, December 07, 2010

विस्फोट में एक मासूम बच्ची की मौत--25 लोगों के घायल

वाराणसी में गंगा आरती के दौरान मंगलवार को हुए एक विस्फोट में एक मासूम बच्ची की मौत हो गयी है जिसकी उम्र केवल दो बरस की थी. कम से कम 25 लोगों के घायल होने की सूचना है। यह विस्फोट बाबरी मस्जिद की बरसी के एन अगले दिन शाम के साढ़े छह बजे के करीब शीतला माता घाट पर हुआ। पुलिस मौके पर पहुंच गई है। आस-पास के इलाके को खाली करा लिया गया है। धमाके और उसके बाद मची भगदड़ में एक विदेशी नागरिक सहित कम से कम पच्चीस लोग घायल हो गए। साथ ही चार जिंदा बम भी बरामद हुए हैं। इसके बाद राज्‍य में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। धमाका कम तीव्रता (लो इंटेनिसिटी) का था।  विस्फोट में घायल लोगों में कुछ विदेशी पर्यटक भी शामिल बताये गए हैं। धमाका उस वक्त हुआ जब गंगा जी की आरती की जा रही थी। विस्फोटक दूध के एक कंटेनर में हुआ।
गौरतलब है कि वाराणसी काफी समय से आतंकियों के निशाने पर है। खुफिया एजेंसियों ने बार-बार आगाह किया है कि वहां आतंकी किसी बड़ी वारदात को निशाना बना सकते हैं। आज जिस वक्त धमाका हुआ उस समय गंगा आरती हो रही थी। मंगलवार के दिन गंगा आरती में आम दिनों की अपेक्षा कहीं ज्यादा लोग जुटते हैं। इस पावन दृश्य देखने के लिए बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक भी गंगा आरती देखने आते हैं। धमाके के बाद अयोध्या, लखनऊ और फैजाबाद में अलर्ट जारी कर दिया गया है। इससे पहले भी दो बार वाराणसी पर आतंकी हमले हो चुके हैं। एक बार तो सीरियल ब्लास्ट का शिकार बना तो एक बाद रघुनाथ मंदिर में भी ब्लास्ट हुआ। इस बार भी यहां सीरियल ब्लास्ट की साज़िश ही थी जिए सुरक्षा बलों ने नाकाम बना दिया. गौरतलब है कि धमाके के बाद चार जिंदा बम भी बरामद हुए हैं।
 इस बीच, इंडियन मुजाहिदीन ने इस वारदात की ज़िम्मेदारी ले ली है. इस सबंध में मीडिया के कुछ चुनिन्दा केन्द्रों को भेजी गयी ईमेल में इस विस्फोट की जिम्मेदारी ले ली है।  

1 comment:

Navin C. Chaturvedi said...

सुखद घटना| इस से मानवता फिर से शर्मसार हुई है|